अब खुलेंगे स्कूल, 6 चरणों में होगी पढ़ाई, लागू होगा ऑड-ईवन नियम


खुशखबरी है कि जल्द ही स्कूल वापस खुलेंगे। इसको लेकर एनसीईआरटी ने गाइडलाइंस जारी की है।

कोरोना वायरस (Coronavirus) के बीच स्कूलों को दोबारा (School Re Opening) खोलने की दिशा में बड़ा कदम उठाया गया है। एनसीईआरटी ने अपनी गाइडलाइंस का ड्राफ्ट (NCERT Guidelines Draft) सरकार को सौंप दिया है।

इसके तहत बताया गया है कि स्कूल खुलने पर पढ़ाई का सिलसिला किस तरह शुरू होगा और बच्चों, पेरेंट्स व टीचर्स के लिए किन बातों का ध्यान रखना जरूरी होगा।

इन छह चरणों में शुरू होगी पढ़ाई

1. पहले चरण में 11वीं और 12वीं की कक्षाएं शुरू की जाएंगी।
2. इसके एक हफ्ते बाद नौवीं और दसवीं की पढ़ाई शुरू होगी।
3. तीसरे चरण में दो हफ्ते बाद छठी से लेकर आठवीं तक की कक्षाएं शुरू होंगी।
4. इसके तीन हफ्ते बाद तीसरी से लेकर पांचवीं तक की पढ़ाई होने लगेंगी।
5. पांचवां चरण पहली और दूसरी कक्षाओं की शुरुआत का होगा।
6. छठे चरण में पांच हफ्ते बाद अभिभावकों की मंजूरी के साथ नर्सरी व केजी की कक्षाएं शुरू होंगी। हालांकि कंटेनमेंट जोन के स्कूल ग्रीन जोन बनने तक बंद ही रहेंगे।

अपनाए जाएंगे ये उपाय

– क्लास में स्टूडेंट्स के बीच 6 फीट की दूरी जरूरी होगी। एक कमरे में 30 या 35 बच्चे होंगे।

– क्लासरूम के दरवाजे-खिड़कियां खुली रहेंगी और एसी नहीं चलाए जा सकेंगे।

– बच्चे ऑड-ईवन के आधार पर बुलाए जाएंगे, लेकिन होम असाइनमेंट प्रतिदिन देना होगा।

– बच्चे सीट न बदलें, इसके लिए डेस्क पर नाम लिखा होगा। रोज वहीं बैठना होगा।

– कक्षाएं शुरू होने के बाद हर 15 दिन में बच्चे की प्रोग्रेस को लेकर पेरेंट्स से बात करनी होगी।

– कमरे रोजाना सैनिटाइज हों, ये सुनिश्चित करना प्रबंधन का काम होगा. मॉर्निंग असेंबली और एनुअल फंक्शन जैसा कोई आयोजन नहीं होगा।

– स्कूल में प्रवेश से पहले छात्रों और स्टाफ की स्क्रीनिंग होगी। स्कूल के बाहर खाने-पीने के स्टॉल नहीं लगाए जाएंगे।

– बच्चों के लिए कॉपी, पेन, पेंसिल या खाना शेयर करने की मनाही होगी. बच्चों को अपना पानी साथ लाना होगा।

– हर बच्चे के लिए मास्क पहनना जरूरी होगी. स्कूल में सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल न रखने पर बच्चे के पेरेंट्स को सूचित किया जाएगा।

ये बातें भी रखनी होगी ध्यान

– चिकित्सा, सुरक्षा या सफाई संबंधी कामों से जुड़े पेरेंट्स को इसकी सूचना पहले ही स्कूल को देनी होगी।

– उन्हीं अभिभावकों को शिक्षकों से मिलने की अनुमति होगी जो फोन पर संपर्क करने की स्थिति में नहीं होंगे।

– पेरेंट्स-टीचर्स मीटिंग नहीं होगी। ट्रांसपोर्ट को लेकर जल्द ही गाइडलाइन जारी कर दी जाएगी।

– जहां तक हॉस्टल की बात है तो वहां भी छह-छह फीट की दूरी पर बेड लगाने होंगे।


 

24 thoughts on “अब खुलेंगे स्कूल, 6 चरणों में होगी पढ़ाई, लागू होगा ऑड-ईवन नियम

    1. Govt decision reopen tha school great. So school next season 202-21 restart and children load in the study .
      Class 11-12 frist the reopening
      School mid brack are inter class overlap.
      Not a mid brack all class together .
      Secondery same time as a reopening next two classes 9-10 …
      Next…….

  1. मेरा मानना है की स्कुल खोले जाये तो लंच टाइम को खत्म किया जाये क्याेकी विधार्थी लंच टाइम मे ही एक दुसरे के सम्पर्क मे आते है और स्कुलो को जितनी जल्दी हो उतनी जल्दी खोले क्योकी यदी आगे exam. होगी तो टाइम कम मिल पायेगा

    1. स्कूल खुलने चाहिए,और सफाई का पूरा ध्यान विद्यालय प्रबंधन का होना चाहिए ,लापरवाही करने पर आर्थिक दंड का प्रावधान होना चाहिए ।ऑनलाइन पढाई में कुछ विद्यालय बुक की फोटो खींच कर पढ़ने को बोलते है जो बच्चे खुद कर सकते है।सावधानी पूर्वक विद्यालय खोलना चाहिए,जो अभिभावक अपने बच्चों को विद्यालय नहीं भेजना चाहते है ,उनके लिए भी कुछ नियम होने चाहिए,ऐसा केवल क्लास 8 तक होना चाहिए।जय हिंद,जय भारत🙏🏼🙏🏼🙏🏼🙏🏼🇮🇳

  2. I think right now it’s not possible to reopen the schools.
    All the childrens are trouble and govt will be resonsible for it

  3. It’s not possible for all children would be safe and follow distancing. What can we talk their parents… If their child will have corona sign.. All school staff and government will be responsible for it .. I hope online study is better option to safe everyone …

  4. It’s early to reopen the school,only 11th & 12th classes can restart with guidelines rest classes should run through recorded lessons and materials should be given.

  5. Is sb k baad bhi agar ek bhi bachha infected hua to kaun responsible hoga aur us condition m school kya step lega

    1. Comments Regarding the decision of re open the schools – It is too difficult to maintain the social distancing by the childrens . What can we talk their parents, if their child will have ” CORONA” sign. All school staff & government will be responsible for its. In my opinion that at present on line study is better option for safe everyone.

  6. I think , only re-open the school for class 9-12 after taking a trial of 2 week of class 11-12 students in school. Because students of NC-8 class are innocent who don’t know about this pandemic guidelines.
    They do play & not follow social distancing.

    So, I expect government to trial of only 11-12 classes students for about 2 week

  7. स्कूल खुलने चाहिए,क्योंकि बच्चे इस समय आपस में खेलते है,कोई रिस्क नहीं है,बच्चों को आपस में मिलाने से नहीं रोका जा सकता है,छुट्टी के समय भी साथ ही चलेंगे।सफाई का पूरा ध्यान विद्यालय प्रबंधन का होना चाहिए ,लापरवाही करने पर आर्थिक दंड का प्रावधान होना चाहिए ।ऑनलाइन पढाई में कुछ विद्यालय बुक की फोटो खींच कर पढ़ने को बोलते है जो बच्चे खुद कर सकते है।सावधानी पूर्वक विद्यालय खोलना चाहिए,जो अभिभावक अपने बच्चों को विद्यालय नहीं भेजना चाहते है ,उनके लिए भी कुछ नियम होने चाहिए,ऐसा केवल क्लास 8 तक होना चाहिए।जय हिंद,जय भारत🙏🏼🙏🏼🙏🏼🙏🏼🇮🇳

  8. स्कूल खुलने चाहिए,और सफाई का पूरा ध्यान विद्यालय प्रबंधन का होना चाहिए ,लापरवाही करने पर आर्थिक दंड का प्रावधान होना चाहिए ।ऑनलाइन पढाई में कुछ विद्यालय बुक की फोटो खींच कर पढ़ने को बोलते है जो बच्चे खुद कर सकते है।सावधानी पूर्वक विद्यालय खोलना चाहिए,जो अभिभावक अपने बच्चों को विद्यालय नहीं भेजना चाहते है ,उनके लिए भी कुछ नियम होने चाहिए,ऐसा केवल क्लास 8 तक होना चाहिए।जय हिंद,जय भारत🙏🏼🙏🏼🙏🏼🙏🏼🇮🇳

  9. School khuley bhut achi baat hai rules and regulations follow ho you bhut acha hai or private sector nai jo atyachaar teachers or kiya hai uska hisab koun kreyga Umar beet gi fee laitey bdey bdey empire khdey kr liay mehnat teachers ki thee pr ,3month Mai sarey profits khtm ho hai private institutions Kai fees ka bhana bna teachers kou kiya kick out or mehnet mama bhi nhi diya yeh keh kr ki fees nhi aye baibus teacher fir jayga vhan pdhaney sarkar nai yeh bhana dai diya private sector kou

    1. Thiking is so good but always teacher is not present in school and classroom . Some time teacher will be late all child create a group this is not a good covid – time all 1step is very important . My thiking so very stick rule apply after open the school

  10. Agr schl reopen hote h to y jo abhi corona ki counting arhi h us se b double ayegi kyuki chote bacche ko kitna rokskte h teachers b..or badne vali corona counting me baccho ki sankhya zyada hogi…isliye online study hi safe h hamare baccho k liye abi to…

  11. Bahi ek baat batao school kholne main Kya dikkat hai parents our school ko saath milkar kaam karna cahiye 1to5 class tak gaon gaon jaakar class lagani cahiye bachhon ko to parents se bhi khatra hai vo bhi Bahar ghumte hai

  12. I salute to government decision. But meri rai me jab tak case ek had tak thik nahi ho jata tab tak online hi chalne de. Kyunki school ek aisa plateform hai jahan sabse jyada gathering hoti hai. Bahut jyada savdhani uthani padegi school aur parents dono ko hi. Hum sab ko milkar covid 19 ka samnaa karna padega.. JAI HIND

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *